Friday, June 14, 2024

Loksabha Polls 2019, News, Politics, Uttar Pradesh

बनारस तो कल ही जीत गया अब हर पोलिंग बूथ जीतना है: मोदी

वाराणसी से नामांकन दाखिल करने से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बूथ कार्यकर्ताओं को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि वे सभी नरेंद्र मोदी हैं और वे अपने बूथ के पीएम कैंडिडेट हैं। उन्होंने इस दौरान बूथ कार्यकर्ताओं से रेकॉर्ड मतदान का संकल्प लेने को कहा। उन्होंने कहा कि मोदी तो कल ही जीत गया था लेकिन अब पोलिंग बूथ जीतना है। पीएम मोदी ने इस दौरान विरोधी दलों से दोस्ती और भाईचारे रखने और बिना खर्चे के चुनाव लड़ने के टिप्स भी दिए।

नरेंद्र मोदी ने कहा कि दिल जीतने के लिए चुनाव लड़िए, दल आपने आप जीत जाएगा। कार्यकर्ताओं को बधाई देते हुए मोदी ने कहा, ‘कल जो दृश्य मैं देख रहा था उसने मुझे आपके परिश्रम के, आपके पसीने की महक आ रही थी। चुनाव तो मैं कल ही जीत गया था अब हमें पोलिंग बूथ जीतना है।’

मोदी ने कहा, ‘हमारे देश में इतने चुनाव हुए, इस बार चुनाव होने के बाद पॉलिटिकल पंडितों को माथापच्ची करनी पड़ेगी कि प्रो-इंकंबेंसी वेव पहली बार देखने को मिली।’ उन्होंने कहा, ‘पूरा देश का चुनाव देख रहा हूं, डेढ़ महीने से देश के कोने-कोने में जा रहा हूं। बीजेपी, कार्यकर्ता, नरेंद्र मोदी, अमित शाह, योगी जी सभी निमित्त हैं, इस बार चुनाव देश की जनता लड़ रही है।’

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ‘बनारस के लोग, आप इतने कमनसीब हैं कि आपका उम्मीदवार फॉर्म भरकर भाग जाएगा। लेकिन आपका उम्मीदवार इतना भाग्यवान है कि वो कहीं भी रहे यहां का कार्यकर्ता अपने भीतर खुद को उम्मीदवार मानता है।’

मोदी ने कहा, ‘इस चुनाव के दो पहलू हैं एक-काशी लोकसभा जीतना, मेरे हिसाब से यह काम कल पूरा हो गया है। एक काम अभी बाकी है- वो है पोलिंग बूथ जीतना। बनारस जीत गए, अब पोलिंग बूथ जीतना है और एक भी पोलिंग बूथ बीजेपी का झंडा झुकने नहीं देगा, ऐसा मैं मानता हूं। अगर आपकी हार हुई तो सबसे ज्यादा दुख मुझे होगा।’

Vijay Upadhyay

Vijay Upadhyay is a career journalist with 23 years of experience in various English & Hindi national dailies. He has worked with UNI, DD/AIR & The Pioneer, among other national newspapers. He currently heads the United News Room, a news agency engaged in providing local news content to national newspapers and television news channels