Tuesday, April 23, 2024

News, Uttar Pradesh, violence

Uttar Pradesh : आगरा में राधास्वामी सत्संग सभा दयालबाग के अवैध क़ब्ज़े हटवाने के दौरान सत्संगियों का पुलिस पर गलवान की तर्ज़ पर कीलें लगे डंडों से हमला व पथराव,बड़ी संख्या मे पुलिसकर्मी घायल

उत्तर प्रदेश के आगरा में रविवार की शाम राधास्वामी सत्संग सभा दयालबाग (Radhasoami Satsang Sabha Dayalbagh) द्वारा कथित रूप से घेरी गई सरकारी ज़मीन को कब्जा मुक्त कराने की कार्यवाही से भड़के सत्संगी और पुलिस टीम आमने-सामने आ गई। इस दौरान अवैध कब्जा हटा रही पुलिस टीम पर सत्संगियों ने हमला बोल दिया। उन्होंने बच्चों को आगे करके अपना सुरक्षा कवच बनाया और पीछे से पुलिस टीम पर पत्थर और लाठी-डंडे बरसाते रहे। इससे वहां पर दहशत का माहौल बन गया। लोग जान बचाकर भागने लगे। पुलिस हो या कवरेज कर रहे पत्रकार। सत्संगियों ने सभी पर लाठियां बरसाईं। जंग का मौदान बन चुका दयालबाग के इस क्षेत्र में पत्रकार व पुलिसकर्मी लहूलुहान हो गए। उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया। सत्संगी बुरी तरह से पुलिस टीम पर टूट पड़े।

इस बार सत्संगी पुलिस के सामने लाठियां लेकर खड़े हो गए। सबसे आगे महिलाएं थीं। उनके साथ बच्चे भी थे। इसके पीछे महिलाएं लाठियों का प्रदर्शन कर रही थीं। पुलिस उन्हें हटने के लिए बोल रही थी। तभी सत्संगियों की ओर से पथराव शुरू हो गया। लाठियों में कटीले तार लगाकर पुलिसकर्मियों पर हमला कर दिया। इसके बाद प्रशासन ने बल प्रयोग करके सत्संगियों को पीटना शुरू कर दिया। दौड़ा दौड़ाकर सत्संगी पीटे गए।

बच्चों को चोट न आए इसलिए धैर्य धारण किए हुए पुलिस के कई जवान घायल हो गए। सत्संगियों के हमले में एसओ जगदीशपुरा जितेंद्र कुमार सहित कई पुलिसकर्मी घायल हो गए। इसके बाद पुलिस ने भी बल प्रयोग करके सत्संगियों को पीछे खदेड़ा। सत्संगियों की भीड़ इस कदर टूटी की पुलिस के पसीने छूट गए। सत्संगियों ने पुलिस पर पथराव शुरू किया तो पुलिसकर्मियों के पैर उखड़ गए।

रविवार की शाम जब पुलिस राधास्वामी सत्संग सभा दयालबाग (Radhasoami Satsang Sabha Dayalbagh) के अवैध कब्जा हटाने पहुंची तो सत्संगी पूरी तैयारी के साथ वहां पहुंच गए। पुलिस को इसबात का अंदेशा भी नहीं रहा होगा कि सत्संगी खूनी खेल पर उतारू हो जाएंगे। हैरान करने वाली बात यह रही कि सत्संगियों के पास वैसे ही डंडे थे जैसे चीनी सैनिकों ने गलवान में भारतीय सेना पर हमला करते समय उपयोग किया था। उसी तरह के बनाए गए डंडों से सत्संगियों ने पुलिस पर हमला बोला। इसमें एसओ जगदीशपुरा जितेंद्र कुमार सहित कई पुलिसकर्मी घायल हो गए।
सत्संगियों ने जिस तरह से पुलिस पर हमला बोला और भारी पड़े। वह प्रशिक्षित हमलावरों से कम नहीं दिख रहे थे। कई लोग पत्थरबाजी कर रहे थे। तो कई लाठियां भांज रहे थे। लाठी और पत्थर लगने के बाद पुलिसकर्मी घायल हुए तो उन्हें अस्पताल पहुंचाया गया। इसके कुछ देर बाद पुलिस बैकफुट पर आ गई। वह सत्संगियों द्वारा 24 घंटे में जमीन के कागज तहसील में दिखाने की बात कहकर वापस लौट गई।
दयालबाग क्षेत्र में दो-तीन घंटों तक पुलिस व सत्संगी आमने-सामने रहे। कई बार दोनों के बीच कहासुनी हुई तो कई बार नारेबाजी हुई। इसके बाद सत्सगिंयों ने पुलिस टीम की क्षमता का आंकलन करते हुए उन पर हमला बोल दिया। सेना की ड्रेस पहने हुए महिला सत्संगी पुलिस टीम के सामने लाठियों का प्रदर्शन करती रहीं। कई सत्संगी पुरुष भी सेना की वर्दी पहने हुए पकड़े गए।
सत्संगियों ने जिस तरह से पुलिस पर हमला बोला और भारी पड़े। वह प्रशिक्षित हमलावरों से कम नहीं दिख रहे थे। कई लोग पत्थरबाजी कर रहे थे। तो कई लाठियां भांज रहे थे। लाठी और पत्थर लगने के बाद पुलिसकर्मी घायल हुए तो उन्हें अस्पताल पहुंचाया गया।
 देर रात तक सत्संगी अपना मेडिकल कराने के लिए जिला अस्पताल पहुंचे। इसके साथ ही पुलिस भी जिला अस्पताल पहुंच गई। रात भर जिला अस्पताल में पुलिस बल मौजूद रहा।
इसके बाद रात 8 से 10 बजे तक दो घंटे सत्संगियों, पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों की सदर तहसील में बैठक हुई। इसमें अफसरों ने सत्संगियों से दो टूक कहा कि सार्वजनिक रास्तों पर अवैध कब्जे ध्वस्त होंगे। इसमें पुलिस व प्रशासन को कोई अड़चन नहीं आनी चाहिए।
बताते चलें कि शनिवार को प्रशासन ने सत्संगियों द्वारा किए गए अवैध कब्जे में बुलडोजर चलाकर छह गेट ध्वस्त कर दिए। दिन में प्रशासन ने कार्रवाई की और रात में फिर से पहुंचे सत्संगियों ने डीइआई इंजीनियरिंग कॉलेज के सामने टेनरी वाले रास्ते पर गेट लगाकर वहीं पुलिस ने कार्रवाई करते हुए महज एक सप्ताह में राधास्वामी सत्संग सभा के खिलाफ 3 एफआईआर हुई हैं। वहीं राधास्वामी सत्संग सभा दयालबाग (Radhasoami Satsang Sabha Dayalbagh) के अध्यक्ष और दो उपाध्यक्ष के खिलाफ भूमाफिया घोषित करने की सिफारिश तहसील से की जा चुकी है। शनिवार को दर्ज कराई गई एफआईआर में भी सत्संग सभा के कार्यों को भूमाफिया प्रकृति का बताया गया है।
सत्संग सभा के मीडिया प्रभारी एसके नैय्यर का कहना है कि पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों को जमीन के कागज दिखाए थे, लेकिन वे मानने को तैयार नहीं हैं। पुलिस ने बर्बरता दिखाई है। कई दर्जन लोग घायल हो गए हैं। सरन हॉस्पिटल में उन्हें एडमिट किया गया है। नैय्यर का कहना है कि पीएमओ को सत्संगियों पर हुए लाठीचार्ज का वीडियो भेज दिया गया है।

https://twitter.com/i/status/1706001216168493478

Vijay Upadhyay

Vijay Upadhyay is a career journalist with 23 years of experience in various English & Hindi national dailies. He has worked with UNI, DD/AIR & The Pioneer, among other national newspapers. He currently heads the United News Room, a news agency engaged in providing local news content to national newspapers and television news channels

One thought on “Uttar Pradesh : आगरा में राधास्वामी सत्संग सभा दयालबाग के अवैध क़ब्ज़े हटवाने के दौरान सत्संगियों का पुलिस पर गलवान की तर्ज़ पर कीलें लगे डंडों से हमला व पथराव,बड़ी संख्या मे पुलिसकर्मी घायल

  1. कहने को सत्संगी और काम आतंकियों वाले ।जितने भी मठ होते हैं mostly व्यभिचार और आतंकवाद के गड होते हैं ।धर्म के नाम पर गुंडागर्दी करते हैं ।

Comments are closed.