Monday, April 15, 2024

Crime, News, Uttar Pradesh

Uttar Pradesh :राजा बलवंत सिंह के प्रपौत्र पुत्र जितेंद्र पाल सिंह को धोखाधड़ी के आरोप में आगरा पुलिस ने अवागढ़ किले से किया गिरफ्तार 

Agra police arrested Jitendra Pal Singh, great grandson of Raja Balwant Singh from Avagarh fort

Agra police arrested Jitendra Pal Singh, great grandson of Raja Balwant Singh from Avagarh fort राजा बलवंत सिंह Raja Balwant Singh के प्रपौत्र जितेंद्र पाल सिंह Jitendra pal Singh को ने शनिवार को गिरफ्तार कर लिया है । गिरफ्तारी अवागढ़ किलेAwagarh Fortसे की गई है। आरोपी को न्यायालय में पेश किया गया, जहां से जेल भेज दिया गया।

बलवंत सिंह एजुकेशनल सोसाइटी के पदाधिकारी युवराज अंबरीश पाल सिंह ने अगस्त 2022 में अपर पुलिस महानिदेशक (एडीजी) आगरा जोन को प्रार्थनापत्र दिया था। एडीजी के निर्देश पर न्यू आगरा थाने में जनवरी 2023 में धोखाधड़ी का केस दर्ज किया गया था। अंबरीश पाल सिंह की ओर से दर्ज कराई गई रिपोर्ट के मुताबिक बलवंत एजुकेशनल सोसाइटी खंदारी, सोसाइटी पंजीकरण एक्ट के तहत पंजीकृत संस्था है।

सोसाइटी की ओर से आरबीएस डिग्री कॉलेज, आरबीएस इंटर कॉलेज और इंजीनियरिंग कॉलेज समेत कई शिक्षण संस्थान संचालित किए जाते हैं। बोर्ड ऑफ मैनेजमेंट में जिला जज पदेन अध्यक्ष हैं। मुख्य चिकित्सा अधिकारी, जिला विद्यालय निरीक्षक, प्रधानाचार्य आरबीएस कॉलेज, राजा अवागढ़ पदेन उपाध्यक्ष हैं। सोसाइटी में मार्च 1981 से अनिरुद्ध पाल सिंह पदेन उपाध्यक्ष के रूप में चयनित चले आ रहे हैं।

संस्था में परिवार के एक अन्य सदस्य जितेंद्र पाल सिंह Jitendra pal Singhकी ओर से दावा किया गया कि पदेन अध्यक्ष जिला जज ने अगस्त 2011 में उन्हें उपाध्यक्ष नियुक्त किया था। जितेंद्र पाल सिंह के दावे की जांच हुई। इसमें सामने आया कि जितेंद्र पाल सिंह ने 27 अगस्त 2011 में उपाध्यक्ष पद की दावेदारी के लिए प्रत्यावेदन अध्यक्ष को प्रस्तुत किया था। पदेन अध्यक्ष ने पत्र के निस्तारण के लिए 30 अगस्त 2011, इसके बाद छह सितंबर 2011 की तिथि नियत की थी।

रिपोर्ट में आरोप लगाया कि जितेंद्र पाल सिंह Jitendra pal Singhने उपाध्यक्ष पद पर नियुक्ति का 30 अगस्त 2011 का पदेन अध्यक्ष का फर्जी और कूटरचित आदेश प्रस्तुत किया। इसमें उपाध्यक्ष पद पर अपनी नियुक्ति दर्शाई। थानाध्यक्ष न्यू आगरा राजीव कुमार ने बताया कि विवेचना में पाया गया कि आरोपी जितेंद्र पाल सिंह फर्जी हस्ताक्षर से नियुक्ति पत्र के आधार पर 9 माह तक बलवंत सिंह एजुकेशनल सोसाइटी में पद पर बने रहे। पुलिस ने साक्ष्य संकलन के बाद कार्रवाई करते हुए अवागढ़ किले Awagarh Fortमें दबिश देकर आरोपी जितेंद्र पाल सिंह को गिरफ्तार किया। आरोपी को न्यायालय में प्रस्तुत किया गया, वहां से उन्हें जेल भेज दिया गया।

 

Raju Upadhyay

Raju Upadhyay is a veteran journalist with experience of more than 35 years in various national and regional newspapers, including Sputnik, Veer Arjun, The Pioneer, Rashtriya Swaroop. He also served as the Managing Editor at Soochna Sahitya Weekly Newspaper.