Tuesday, April 23, 2024

Bollywood, Entertainment, INDIA, News

‘चिठ्ठी आई है’ से लेकर ‘ना कजरे की धार’ जैसे सदाबहार गीतों से सिनेमा को गुलजार करने वाले मशहूर ग़ज़ल और पार्श्व गायक पंकज उधास नहीं रहे

Legendary ghazal and playback singer Pankaj Udhas dies at 72 after prolonged illness

 Pankaj Udhas‘ना कजरे की धार’, ‘चिट्ठी आई है…’, ‘चांदी जैसा रंग है तेरा’ जैसे न जाने कितने गानों को अपनी आवाज देने वाले  बॉलीवुड  (  के जाने-माने मशहूर गजल गायक पंकज उधास  ( Pankaj Udhasका निधन हो गया है। वे लंबे समय से बीमार चल रहे थे। वे 72 साल के थे। उनका जन्म 17 मई 1951 को गुजरात के जेतपुर में हुआ था। पंकज उधास की बेटी नायाब उधास ने पिता के निधन की पुष्टि की है।’चिट्ठी आई है, आई है, चिट्ठी आई है’ गाना पंकज उधास का सर्वश्रेष्ठ गाना था, जिसे लोग आज तक गुनगुनाते हैं। यह गाना उनके अल्बम ‘याद’ का है, जो 1993 में रिलीज हुआ था।

नायाब उधास ने इंस्टाग्राम अकाउंट पर यह दुखद खबर साझा करते हुए लिखा, ‘भारी दिल और बड़े दुख के साथ आप सभी को सूचित करना पड़ रहा है कि लंबी बीमारी के चलते 26 फरवरी 2024 को पद्मश्री पंकज उधास का निधन हो गया है’।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक पंकज उधास  ( Pankaj Udhasका निधन 26 फरवरी को सुबह करीब 11 बजे ब्रीच कैंडी अस्पताल में हुआ। गायक लंबे समय से बीमार थे। बीते कई दिनों से उनकी तबीयत ठीक नहीं चल रही थी। सिंगर के निधन की खबर से फिल्म जगत में शोक की लहर है। उनके चाहने वालों को झटका लगा है। सोशल मीडिया पर उन्हें याद करते हुए फैंस श्रद्धांजलि दे रहे हैं।

पंकज उधास  ( Pankaj Udhasका जन्म गुजरात के जेतपुर में 17 मई 1951 को हुआ था।1980 में गजल एल्बम ‘आहट’ से शुरुआत करने के बाद उन्होंने ‘मुकरार’, ‘तरन्नुम’ औ ‘महफ़िल’ जैसे एल्बम से पॉप्युलैरिटी हासिल की थी। तीन साल में ही उन्होंने मनोरंजन जगत में अपनी पहचान बना ली थी। इसके अलावा पंकज उधास ने महेश भट्ट की फिल्म ‘नाम’ में गाना ‘चिट्ठी आई है’ गाया और वो रातोंरात सुपरहिट हो गया। पंकज उधास तीन भाई थे और सबसे छोटे थे। पिता का नाम केशुभाई उधास और मां का नाम जितुबेन उधास हैं। इनके बड़े भाई मनहर उधास भी जाने-माने बॉलीवुड के सिंगर हैं। भावनगर से स्कूलिंग करने के बाद मुंबई के सेंट जेवियर्स कॉलेज से ग्रेजुएशन किया। वहीं, इनके पिता केशुभाई उधास एक सरकारी कर्मचारी थे। केशुभाई की मुलाकात प्रसिद्ध वीणा वादक अब्दुल करीम खान से हुई थी, जिन्होंने बाद में पंकज को ‘दिलरुबा’ वाद्ययंत्र बजाना सिखाया था।

‘ना कजरे की धार’ गाना प्रेमियों के लिए मशहूर है। पंकज उधास  ( Pankaj Udhasका यह गाना फिल्म ‘मोहरा’ का है। फिल्म में अक्षय कुमार और सुनील शेट्टी मुख्य भूमिका में थे। फिल्म 1994 में रिलीज हुई थी।पंकज उधास द्वारा गाया हुआ गाना ‘चांदी जैसा रंग है तेरा’ फिल्म ‘एक ही मकसद’ का है। यह फिल्म 2001 में रिलीज हुई थी।’आज फिर तुमपे’ गाना पंकज उधास का गाया हुआ सदाबहार गीत था। इस गाने को उन्होंने अनुराधा पौडवाल के साथ मिलकर गाया था। यह 1988 में रिलीज हुई फिल्म ‘दयावान’ का गाना है।पंकज उधास के प्रशंसकों के बीच उनका गाना ‘थोड़ी थोड़ी पिया करो’ खूब लोकप्रिय हुआ। यह गाना उनके एल्बम ‘आफरीन वॉल्यूम 2′ का गाना है, जो 1986 में रिलीज हुआ था।’आदमी खिलौना है’ गाना पंकज उधास  ( Pankaj Udhasका सबसे लोकप्रिय गाना रहा, जो आज भी लोगों की जुबान पर चढ़ा रहता है। यह ‘आदमी खिलौना है’ फिल्म का शीर्षक गीत है। यह फिल्म 1993 में रिलीज हुई थी।

Jaba Upadhyay

Jaba Upadhyay is a senior journalist with experience of over 15 years. She has worked with Rajasthan Patrika Jaipur and currently works with The Pioneer, Hindi.